बच्चा पैदा करने के लिए वीर्य में शुक्राणु कितने होने चाहिए?

0
95

प्रेगनेंसी पाने के लिए शुक्राणु की संख्या कितनी होनी चाहिए?

Sperm count for pregnancy in Hindi- प्रेग्नेंसी पानी के लिए वीर्य में कितने शुक्राणुओं की संख्या होनी चाहिए जब बच्चा पैदा करने के लिए वीर्य में कितने शुक्राणु होने चाहिए जाने से पहले आपको यह पता होना चाहिए की स्वस्थ पुरुष के 1 मिलीलीटर वीर्य में 40 मिलियन से 300 मिलियन शुक्राणु होने चाहिए| लेकिन यदि आप की शुक्राणु की संख्या 10 से 20 मिलियन के बीच में है तो इसे लो स्पर्म काउंट की समस्या कहा जाएगा| लेकिन जैसा कि आपको पता होगा कि प्रेगनेंसी पाने के लिए एक ही शुक्राणु चाहिए होता है तो यदि आपके बारे में शुक्राणुओं की संख्या 20 मिलियन तक है और आपके शुक्राणु स्वस्थ हैं और उनकी गतिशीलता भी अच्छी है तो ऐसे में आपको प्रेगनेंसी पानी में कोई दिक्कत नहीं आएगी|

loading...

bacha paida karne ke liye shukranu ki sankhya kitni honi chahiye

इसलिए प्रेगनेंसी पाने के लिए शुक्राणुओं की संख्या कितनी होनी चाहिए या बच्चा पैदा करने के लिए कितने शुक्राणु होने चाहिए के बारे में सोचने से अधिक महत्वपूर्ण बात यह होती है कि आपके शुक्राणु कितने स्वस्थ हैं और उनकी गतिशीलता कैसी है|

बच्चा पैदा करने के लिए वीर्य में कितने शुक्राणु होने चाहिए?

loading...

जैसा कि हमने आपको पहले बताया था कि केवल एक ही शुक्राणु एक अंडे को निश्चित करता है और जिसके फल स्वरूप गर्भधारण हो जाता है | लेकिन अब प्रश्न यह उठता है कि प्रेगनेंसी पाने के लिए या बच्चा पैदा करने के लिए वीर्य में लाखों शुक्राणु होने की ओर जरूरी है तो इसका साधारण था उत्तर यह है कि जब एक पुरुष एक महिला के साथ सेक्स करता है और अपने वीर्य को योनि के अंदर छोड़ता है तो ऐसे में वीर्य के अंदर जितने शुक्राणु अधिक होंगे उतनी ही अधिक प्रेग्नेंसी की संभावना बढ़ जाएगी| यही कारण है कि प्रेगनेंसी पानी के लिए यह बच्चा पैदा करने के लिए 1 मिलीलीटर वीर्य के अंदर कम से कम 20 मिलियन शुक्राणु होना सही माना जाता है इसके अलावा प्रेग्नेंसी की संभावना और अधिक हो जाती है यदि आपके शुक्राणु स्वस्थ हैं और उनकी गतिशीलता अच्छी है|

कैसे पता करें कि वीर्य में शुक्राणु स्वस्थ है या नहीं?

जैसा कि हमने आपको पहले बताया कि केवल वीर्य में शुक्राणु की अधिक संख्या होना ही केवल प्रेगनेंसी के लिए जरूरी नहीं होता क्योंकि प्रेगनेंसी पाने की संभावना अधिक तब होती है जब आपके शुक्राणु स्वस्थ होते हैं| किसी पुरुष के शुक्राणु तब स्वस्थ होते हैं जब पुरुष का शारीरिक स्वास्थ्य अच्छा होता है और उसके खानपान और जीवन शैली स्वस्थ होते हैं| आपके शुक्राणु स्वस्थ हैं या नहीं इस बात को जानने के लिए आप शुक्राणुओं के स्वास्थ्य और गतिशीलता की जांच भी करवा सकते हैं जिससे कि आपको यह अंदाजा हो जाएगा कि आपके शुक्राणु कितने स्वस्थ हैं और उनकी गतिशीलता कैसी है|

क्या कम शुक्राणु वाले आईवीएफ से बच्चा पा सकते हैं?

जी हां यदि आपके धीरे में शुक्राणुओं की संख्या सामान्य से कम है और आपको प्रेगनेंसी या बच्चा पाने के अंदर समस्या आ रही है तो आप IVF तकनीक का सहारा ले सकते हैं| आईवीएफ तकनीक की सफलता या IVF से बच्चा पाने की संभावना तभी अधिक होती है जब आपके शुक्राणु स्वस्थ होते हैं| इसलिए यदि आपके वीर्य में शुक्राणुओं की संख्या कम है और आपको प्रेगनेंसी पाने में समस्या आ रही है तो आप आईवीएफ तकनीक का सहारा लेकर आसानी से प्रेगनेंसी का सुख भोग सकते हैं| इसके अलावा आपको कोशिश करनी चाहिए कि आपका खान-पान और स्वास्थ्य अच्छा हो ताकि आपके वीर्य में शुक्राणु भी स्वस्थ रह सकें|

निसंतान दंपत्ति को डॉक्टर से कब मिलना जरूरी होता है?

अक्सर निसंतान दंपत्ति किस चिंता में रहते हैं कि डॉक्टर से कब मिलना चाहिए ताकि प्रेगनेंसी का सुख उन्हें प्राप्त हो तो ऐसे में हमारी आपको यही सलाह है कि यदि आप 1 साल तक सेक्स करते हैं और आपको संतान सुख प्राप्त नहीं हो रहा तो वैसे मैं आपको डॉक्टर से मिलना चाहिए| इसके अलावा यदि महिला की उम्र 35 से अधिक है और उसको प्रेगनेंसी पाने में दिक्कत आ रही है तो ऐसे मैं आपको डॉक्टर से मिलना जरूरी होता है| इसके अलावा यदि आपको कई सालों तक प्रेग्नेंसी सुख प्राप्त नहीं हो रहा तो आपको निश्चित रूप से अपने वीर्य की जांच करवानी चाहिए ताकि वीरे का सही-सही विश्लेषण किया जा सके और यदि आपको जीरे की जांच के बाद भी नकारात्मक परिणाम मिलते हैं तो आप किसी अच्छे आईवीएफ क्लीनिक में जाकर संतान प्राप्ति के बारे में सही जानकारी प्राप्त कर सकते हैं|

सभी कोशिशों के बाद प्रेगनेंसी में नाकाम होने पर क्या करें?

वीर्य में शुक्राणु की संख्या कम होने पर या वीर्य में स्वस्थ शुक्राणु कम होने पर आपको प्रेगनेंसी पाने में समस्या आ रही है और आप अपने परिवार को बढ़ाना चाहते हैं तो आपके लिए सही विकल्प यह होता है कि आप स्वस्थ आहार का सेवन करें साथ ही अपने स्वास्थ्य को सुधारने की कोशिश करें और इसके बावजूद भी अगर आपको संतान प्राप्ति में समस्या आ रही है तो आपको डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए| डॉक्टर की जरूरी जांच करेगा और उसके बाद ही आपको आगे का सही निर्णय देगा कि आपको क्या करना चाहिए और क्या नहीं| इसके अलावा आईवीएफ तकनीक कभी आप सहारा ले सकते हैं|

तो मित्रों, आज अपनी जाना की प्रेगनेंसी पाने के लिए या बच्चा पैदा करने के लिए वीर्य में शुक्राणुओं की संख्या कितनी होनी चाहिए यदि आपके मन में कोई प्रश्न है तो हमें कमेंट में लिखकर आप पूछ सकते हैं हम अपने डॉक्टर की मदद से आपको सही निर्णय लेने में मदद कर सकते हैं|

Health की सही जानकारी के लिए आज ही subscribe करें हमारा चैनल


 

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here