धातु (धात) रोग रोकने, बंद करने का इलाज के लिए सबसे अच्छे देसी घरेलु उपाय क्या है?

0
14
loading...

धात रोग कैसे रोकें या बंद करें | धातु गिरना बीमारी का इलाज की जानकारी

धात रोग या धातु रोग में धात यानि वीर्य का गिरना बिना आपकी मर्जी के होता है धात रोग के कारण आप में मानसिक और शारीरिक कमजोर आने लगती है| dhat rog in English में बिना आपकी इच्छा जैसे मूत्र करते समय या मॉल त्याग के समय या रगड़ लगने से वीर्य गिरता रहता है या सरल शब्दों में कहें तो वीर्य जैसा चिपचिपा पदार्थ सखलित होता है| धत गिरना रोकने के लिए आप धातु रोग का जड़ से ख़तम करने के लिए gharelu इलाज कर सकते हैं जिसके लिए आप धात रोग रोकने या बंद करने के लिए या धात गिरना का इलाज के लिए देसी घरेलु नुस्खे या उपाय अपना सकते हैं|

dhat rog ka ilaj rokne ka tarika
Drop of water from the Faucet

तो चलिए जानते हैं की धातु रोग या धात का इलाज करने के लिए सबसे असरदार या रामबाण नुस्खे और उपाय कौनसे हैं जिनसे धात का गिरना रोका जा सकता है और आप धात रोग से छुटकारा या मुक्ति पा सकते हैं|

धातु (धात) रोग के लिए घरेलू इलाज – Dhatu Rog Ke ilaj ke liye Gharelu Upay in Hindi

यहाँ कुछ धात रोग से जड़ से छुटकारा पाने के देसी घरेलु इलाज के उपाय और नुस्खे दिए जा रहे हैं|

लिंग और अंडकोष का तापमान कम रखिये | गर्म ताप से बढती है धात की बीमारी

loading...

धात रोग के इलाज के लिए यह जरूरी होता है आप ठीक जनन अंगों का तापमान कम रहे यानी आपके अंडकोष का तापमान अधिक ना हो| अधिक तापमान होने से एक तो आपके शुक्राणुओं की संख्या कम होती है दूसरा आपको धात रोग बार-बार होने की समस्या आती है| इसलिए जरूरी होता है कि आप अपने शरीर के तापमान के साथ अपने अंडकोष के तापमान को भी कम रखने की कोशिश करें ताकि आपकी शुक्राणुओं की संख्या बढ़ती रहे और आप तो धात रोग से जड़ से मुक्ति मिल सके| अंडकोष का तापमान कम रखने के लिए कोटन के अंडरवियर डालिए जोकि ज्यादा टाइट ना हो| अधिक देर पर एक जगह पर बैठे ना रहे साथ ही अपनी टांगों पर लैपटॉप रखकर कार्य ना करें |

धातु रोग का देसी इलाज है मालिश कराना – Dhat rog rokne ka aasan upay

धात रोग को दूर करने का एक आसान रामबाण नुस्खा होता है कि आप रोजाना अपने लिंग और लिंग के आसपास तेलिया देसी घी की मालिश करें| मालिश करने से आप की नसों में मजबूती आएगी जिससे कि धात का गिरना बंद हो जाएगा | इसलिए आप सरसों का तेल, जैतून का तेल या  देसी घी लेकर लिंग और अंडकोष की रोजाना हल्के हाथों से मालिश करें धात रोग या धातु गिरना रोकने के साथ-साथ इस नुस्खे से आपके लिंग का स्वास्थ्य भी सुधरेगा|

धात रोग का बेस्ट उपचार है परहेज करना– Dhat rog ka gharelu ilaj me kya khaye kya nahi

धातु रोग उपचार के लिए सबसे जरूरी होता है कि आप परहेज करें| इसमें आपको गर्म चीजों का सेवन करने से परहेज करना चाहिए| इसके अलावा गरम मिर्च मसाले, फास्ट फूड, मांस मछली, तले हुए खाद्य पदार्थ हनी से परहेज करना होता है| इसके अलावा जर्दा और शराब कभी सेवन आपको बंद करना होता है| आपको संतुलित आहार खाने की सलाह दी जाती है जिसमें ताजी फल सब्जियां भरपूर मात्रा में हो| धात रोग में परहेज रखने से आपके शरीर की सेहत में सुधार होगा फल स्वरुप आपकी धात गिरने की समस्या भी समय के साथ दूर होती जाएगी|

धातु रोग का घरेलू उपाय है वजन कम करना – Dhat rog ka ayurvedic ilaj hai weight loss

ऐसा माना जाता है कि मोटापा धात रोग पैदा करता है यानी जो लोग मोटे होते हैं उन्हें धात गिरने की बीमारी अधिक होती है इसलिए यदि आप धात रोग को जड़ से दूर करना चाहते हैं या हमेशा के लिए धातु रोग से मुक्ति पाना चाहते हैं तो आपको नियमित एक्सरसाइज करके अपने वजन को कंट्रोल में करना होगा| कुल मिलाकर आपको धात रोग में परहेज के साथ-साथ रोजाना एक्सरसाइज करनी होगी| यह धात रोग से मुक्ति पाने का सबसे आसान तरीका होता है|

धातु रोग का उपचार है शरीर ठंडा रखना– Dhatu rog se bachne ke upay hai shital sharir

शरीर में अधिक गर्मी रहना धात रोग होने का सबसे बड़ा कारण होता है जितना हो सके अपने शरीर को शीतल रखने की कोशिश करें बार बार धात गिरने की समस्या ना हो | शरीर को ठंडा रखने के लिए आप गर्मी वाले स्थानों पर जाने से परहेज करें और दिन में दो तीन बार ठंडे पानी से स्नान करें| इसके अलावा नींबू पानी, नारियल पानी. चंदन का शरबत आदि का सेवन करें जिससे कि आपके शरीर को ठंडक मिले और आपका धात का बार-बार गिरना बंद हो सके|

धात रोग की घरेलू दवा लौकी के जूस के फायदे

धात रोग को जड़ से खत्म करने के लिए या हमेशा के लिए धात का गिरना रोकने के लिए लौकी का जूस एक बहुत अच्छी रामबाण दवाई मानी जाती है| लौकी का जूस तेल में मिलकर लिंग और अंडकोष पर लगाने से ठंडक मिलती है जिससे आपकी धात गिरने की समस्या बंद हो जाती है| लौकी का सेवन आपके अन्दर धातु की मात्रा को भी बढाने में मदद करता है|

धात रोग में केला खाने के फायदे – एक सरल इलाज

धात गिरने की जड़ और धातु की कमी को दूर करने के लिए केला एक बहुत अच्छा gharelu उपाय माना जाता है| इसलिए रोजाना दिन में दो बाद केला और दूध का सेवन कीजिये जिससे आपकी धातु पुष्ट बनेगी और धात रोग से छुटकारा भी मिलेगा|

धात रोग में दही खाने से फायदे होता है

धात रोग के इलाज में दही खाना फायदेमंद माना जाता है| दही के पोषक तत्व आपके स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद करते हैं जिसके फलसवरूप आपके गुप्त रोग जैसे धातु रोग की समस्या दूर होती है|

धातु रोग का इलाज है प्‍याज – Dhat rog rokne ka asardaar upay hai pyaz

प्याज में बहुत बढ़िया औषधीय गुण होते हैं जो की धात रोग के उपचार के लिए फायदा करते हैं| प्याज का सेवन करने से आपके शारीर में खून का दौरा अच्छा होता है और नसों की कमजोरी दूर होती है| प्याज के सेवन से धातु रोग को दूर करने में मदद मिलती है ऐसा आयुर्वेद का मानना है|

दोस्तों, ये था धातु रोग यानि धात रोग को दूर करने के लिए सबसे अच्छे रामबाण घरेलु उपाय| धातु गिरना रोकने या बंद करने के लिए आप इनका प्रयोग कीजिये|

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here