शुक्राणु बढाने के लिए हिमालया स्पेमैन टेबलेट की सही dosage, खुराक, कितने समय तक लेनी होती है

0
321

Himalaya speman tablet dosages and course information in Hindi

आज के इस लेख में हम आपको बताएंगे कि हिमालया स्पेमैन टेबलेट खाने का सही नियम यह कोर्स क्या होता है, हिमालया स्पेमैन टेबलेट कि सही dosage क्या होती है और कितने दिन हफ्ते या महीने आपको शुक्राणु बढ़ाने के लिए हिमालया स्पेमैन टेबलेट का सेवन करना होता है| जैसा की आप सभी को पता है हिमालया स्पेमैन टेबलेट का इस्तेमाल शुक्राणुओं की संख्या बढ़ बढ़ाने में और अल्प शुक्राणु यानी ओलिगोस्पर्मिया के कारण आई मर्दाना नपुंसकता और नामर्दी के इलाज के लिए किया जाता है| हिमालया स्पेमैन टेबलेट का कोर्स यदि आप एक से डेढ़ इमेज महीने तक करते हैं तो आपको इस शुक्राणु वर्धक टेबलेट से पूरी तरह से फायदा मिल जाता है लेकिन कभी-कभी यदि आपके वीर्य में शुक्राणु की संख्या बहुत कम हो और वीर्य बहुत पानी जैसा पतला हो तो वीर्य को गाढ़ा करने के लिए आपको 2 या 3 महीने भी इस टेबलेट कमाल करना पड़ता इस्तेमाल करना पड़ सकता है|

loading...

himalaya speman tablet dosage uses course in Hindi

शुक्राणु बढ़ाने के लिए और वीर्य को गाढ़ा करने के लिए हिमालया स्पेमैन टेबलेट एक पूर्णतया आयुर्वेदिक औषधि है जिसमें की कामोत्तेजक और टेस्टोस्टेरोन हार्मोन बढ़ाने वाले गुण पाए जाते हैं जो कि शुक्राणुओं के पैदा होने की गति को तेज कर देते हैं जिससे की आपके वीर्य में शुक्राणुओं की संख्या बढ़ती है और वीर्य में पोषक तत्वों की संख्या बढ़ने से भी आपका वीर्य गाढ़ा और पुष्ट बन जाता है लेकिन आपको यह पता होना चाहिए कि शुक्राणुओं की संख्या को बढ़ाने के लिए हिमालया स्पेमैन टेबलेट का कोर्स क्या होता है और आपको कितने समय यह टेबलेट लेनी होती है और इसके dpse क्या होती है|

हिमालया स्पेमैन  के घटक और औषधीय गुण

loading...

हिमालया स्पेमैन टेबलेट के अंदर कुछ विशेष घटक पाए जाते हैं जो कि शुक्राणु बनाने की प्रक्रिया को तेज करते हैं और आपके वीर्य में शुक्राणुओं की कमी को दूर करने में मदद करते हैं जैसे हिमालया स्पेमैन टेबलेट के अंदर कोकिलक्षा, कौंच बीज, स्वर्ण वंग, वन्य काहू, गोखरू, जीवंती के अलावा अन्य घटक पाए जाते हैं जिसके कारण हिमालया स्पेमैन टेबलेट को कुछ के औषधीय गुण मिलते हैं जैसे कामोद्दीपक गुण, शुक्राणु और वीर्य वर्धक गुण, और एंटीऑक्सीडेंट गुण| इन गुणों के कारण हिमालया स्पेमैन टेबलेट का इस्तेमाल शुक्राणुओं की कमी के कारण पुरुषों में आई नपुंसकता या नामर्दी की समस्या को दूर करने के लिए किया जाता है|

हिमालया स्पेमैन टेबलेट के फायदे | किस काम आती है हिमालया स्पेमैन

हिमालया स्पेमैन टेबलेट का सबसे मुख्य फायदा यह होता है कि यह आपके शरीर में टेस्टोस्टेरोन हार्मोन के लेवल को बढ़ाकर आपके वीर्य में शुक्राणुओं की बनने की प्रक्रिया को तेज करने में मदद करता है जिसके कारण आपको अल्प शुक्राणु या वीर्य में निल शुक्राणु की समस्या के कारण आई नपुंसकता की समस्या से छुटकारा मिलता है|

यदि बचपन से या किसी अन्य कारण या रोग के कारण आपके वीर्य में शुक्राणु की संख्या कम है तो हिमालया स्पेमैन टेबलेट का कुछ दिन कोर्स करके आप अपनी समस्या से आसानी से छुटकारा पा सकते हैं| हिमालया स्पेमैन टेबलेट कैसे काम करती है यदि यह बात आप जाना चाहते हैं तो हम आपको बता दें कि आपके शरीर के अंदर हिमालया स्पेमैन टेबलेट PROTODIOSCIN को DHEA मैं बदल देता है जो कि टेस्टोस्टेरोन हार्मोन का ही एक रूप होता है जो आपके शरीर में शुक्राणु बनने की प्रक्रिया को तेज करा देता है और इसके फल स्वरूप आपके वीर्य में स्वस्थ शुक्राणुओं का निर्माण हो जाता है|

यदि आप हिमालया स्पेमैन टेबलेट से तेजी से शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाना चाहते हैं तो इसका इस्तेमाल आपको अश्वगंधा शतावरी आदि जड़ी बूटियों के साथ करने की सलाह दी जाती है तो यदि आप इस दवा का सेवन करना चाहते हैं तो साथ में आपको दूसरी जड़ी बूटियां भी लेनी चाहिए जिसके लिए आप किसी अच्छे वैद्य की सलाह ले सकते हैं|

हिमालया स्पेमैन टेबलेट की सही dose क्या है | himalaya speman tablet dosage in Hindi

शुक्राणु की संख्या को बढ़ाने के लिए और भी रहता पतलापन दूर करके वीर्य को गाढ़ा बनाने के लिए हिमालया स्पेमैन टेबलेट को दिन में दो बार दो टेबलेट दूध के साथ एक से डेढ़ महीना लेने की सलाह दी जाती है| आपके शरीर को कितनी dose चाहिए इसके लिए आप किसी अच्छे आयुर्वेदिक डॉक्टर की सलाह ले सकते हैं|

हिमालया स्पेमैन टेबलेट का कोर्स कितने दिन का होता है?

हिमालया स्पेमैन का कोर्स किया कितने समय अवधि के लिए आपको यह दवा लेनी होती है यह इस बात पर निर्भर करता है कि आपके वीर्य में शुक्राणुओं की संख्या कितनी है जैसा कि हमने आपको पहले बताया था कुछ लोगों को 1 महीने में फायदा हो जाता है तो कुछ लोगों को 3 महीने इस दवा का सेवन करना होता है| सही जानकारी आपको किसी अच्छे आयुर्वेदिक डॉक्टर से ही प्राप्त हो सकती है|

हिमालया स्पेमैन लंबे समय तक लेने से कोई नुकसान हो सकता है?

वैसे तो यह पूरी तरह आयुर्वेदिक दवा है और इसे बनाने वाली कंपनी का दावा है कि लंबे समय तक इसका इस्तेमाल करने से भी आपको किसी प्रकार का कोई साइड इफेक्ट नहीं होता लेकिन यदि इसे लेने के बाद आपको कोई नुकसान या साइड इफेक्ट नजर आए तो इसका इस्तेमाल करना तुरंत बंद कर देना चाहिए और किसी अच्छे डॉक्टर की देखरेख में ही इस दवा का सेवन करना चाहिए|

दोस्तों आज आपने जाना की हिमालया स्पेमैन टेबलेट क्या है किस काम आती है इसकी सही dose और कोर्स की अवधि क्या होती है| कुल मिलाकर कुछ लोगों को जल्दी फायदा होता है और कुछ पुरुषों को थोड़ा समय लग सकता है यह अपने अपने शरीर पर निर्भर करता है कि आपके शरीर की प्राकृति किस प्रकार की है और आपकी समस्या कितनी छोटी या बड़ी है| हम तो बस आपसे इतना ही कहेंगे कि इस दवाई का सेवन करें तो किसी अच्छे आयुर्वेदिक डॉक्टर की देखरेख में ही करें ताकि आपको किसी प्रकार का कोई नुकसान या साइड इफेक्ट ना हो|

Health की सही जानकारी के लिए आज ही subscribe करें हमारा चैनल


 

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here