लिंग की दुर्बलता या शिथिलता दूर करने के लिए आयुर्वेदिक उपाय उपचार

0
814

लिंग की कमजोरी दुर्बलता या शिथिलता का आयुर्वेदिक इलाज और उपचार जानने से पहले आपको यह पता होना चाहिए की लिंग की शिथिलता गया दुर्बलता पुरुषों में पाई जाने वाली एक बहुत ही साधारण समस्या है जोकि आजकल के खराब खानपान, नशा, खराब जीवनशैली, मानसिक तनाव जरूरत से अधिक होने के कारण किसी भी पुरुष या लड़के को किसी भी उम्र में हो सकती है| लिंग की कमजोरी या दुर्बलता को मेडिकल भाषा में इरेक्टाइल डिस्फंक्शन के नाम से जाना जाता है जिसने की सेक्स के दौरान आखिर लिंग में कड़कपन या सख्ती नहीं आती और आपका लिंग ढीला ढाला कमजोर या शिथिल पड़ जाता है| लिंग की दुर्बलता और शिथिलता के कारण लिंग में पर्याप्त तनाव नहीं आ पाता जिसके कारण आप शारीरिक सुख नहीं भोग पाते और अक्षर पुरुष कैसा होने पर बहुत अधिक मानसिक तनाव मैं रहने लगते हैं कॉलिंग की कमजोरी दूर करने के उपाय खोजने लगते हैं| यदि आप भी लिंग की कमजोरी या दुर्बलता का शिकार हो गए हैं तो हम आपको लिंग की शिथिलता दूर करने के कुछ आयुर्वेदिक इलाज क्या उपचार के उपाय बताने जा रहे हैं जिनके द्वारा आप अपने लिंग को स्वस्थ्य कड़क और ताकतवर बना सकते हैं| तो चलिए जानते हैं लिंग की दुर्बलता या शिथिलता दूर करने का आयुर्वेदिक उपचार या गिलास क्या होता है|

loading...

ling ki kamjori ka ayurvedic ilaj upchar

लिंग की दुर्बलता को दूर करने के आयुर्वेदिक उपाय | ling ki shithilta ka ayurvedic upchar

जैसा कि हमने आपको पहले बताया कि लिंग की दुर्बलता या शिथिलता होने के पीछे कई कारण जिम्मेदार होते हैं और जैसे-जैसे आपकी उम्र बढ़ती जाती है यानी आपकी उम्र 40 के पार होने लगती है वैसे वैसे आपको लिंग से जुड़ी समस्याएं आने लगती हैं जिसमें की इरेक्टाइल डिस्फंक्शन की समस्या यानी लिंग का शिथिल या दुर्बल पड़ जाना एक आम समस्या होती है| लिंग की शिथिलता या ढीलेपन को आप कुछ आयुर्वेदिक उपाय अपनाकर दूर कर सकते हैं जिनके बारे में आपको इस लेख के नीचे के भाग में हम बताने जा रहे हैं|

लिंग का ढीलापन, दुर्बलता, शिथिलता दूर करने के लिए आयुर्वेदिक दवा या मेडिसिन

loading...

आयुर्वेदा में ऐसी कई दवाइयां पाई जाती है जो कि इरेक्टाइल डिस्फंक्शन की समस्या को दूर करने में आपकी मदद कर सकती हैं| आमतौर पर लिंग के ढीलेपन या दुर्बलता को दूर करने के लिए दिव्य यौवनामृत वटी, हिमालय टेंटेक्स फोर्ट, विगोरेक्स, और हिमालय हिमकोलिन जेल का इस्तेमाल किया जाता है| हिंदू भाइयों को आप किसी भी अच्छे आयुर्वेदिक स्टोर से खरीद कर इस्तेमाल कर सकते हैं| आमतौर पर आयुर्वेदिक तौर पर आपको वैद्य आसानी से मिल जाता है तो आप किसी अच्छे वैद्य की सलाह से दवाइयों की सही खुराक पूछ कर इस्तेमाल कर सकते हैं| इन दवाइयों में ऐसे गुण पाए जाते हैं जो किसी भी कारण से जाए मर्दाना कमजोरी की समस्या, सेक्स पावर की कमी, सेक्स स्टैमिना का कम हो जाना, सेक्स करने की इच्छा ना होना, किसी भी कारण से आई लिंग में दुर्बलता यार शिथिलता यानी लिंग की नसों का कमजोर होना या लिंग का ढीलापन आदि सभी समस्याओं को दूर करने में मदद करते हैं और आपकी सेक्स पावर और स्टेमिना को फिर से पहले जैसा बनाने की क्षमता रखते हैं|

लहसुन से लिंग की दुर्बलता या पेनिस का ढीलापन का उपचार

लहसुन में ऐसे गुण पाए जाते हैं जो कि आपके शरीर की नसों को साफ करते हैं, खून को पतला करते हैं जिसके कारण आपके शरीर में खून का दौरा अच्छा होता है और आपके लिंग को अधिक खून प्राप्त होता है जिसके कारण आपको लिंग में अच्छा तनाव मिलता है और आपकी लिंग की शिथिलता और ढीलेपन की समस्या दूर हो जाती है| रोजाना सुबह उठकर दो से तीन कलियां लहसुन की खाली पेट खाने की आदत डालें| हो सके तो लहसुन के खाने के बाद नींबू पानी का सेवन करें| ऐसा यदि करते हैं तो आपको कुछ ही दिनों में लिंग की कमजोरी या दुर्बलता से मुक्ति मिल जाएगी और आपकी मर्दाना शक्ति और ताकत में बढ़ोतरी होगी| लहसुन का सेवन करना पेनिस के ढीलेपन का एक बहुत अच्छा आयुर्वेदिक उपचार माना जाता है| यदि आप लहसुन का सेवन नहीं करते तो आप लहसुन के कैप्सूल या टेबलेट का इस्तेमाल कर सकते हैं जो कि आसानी से हिमालया पतंजलि स्टोर पर उपलब्ध होती हैं|

प्याज से लिंग की शिथिलता और दुर्बलता का उपचार

प्याज में ऐसे केमिकल और गुण पाए जाते हैं जो कि लिंग की शिथिलता का प्राकृतिक उपचार करने में बहुत कारगर सिद्ध हो सकते हैं| प्याज की 10ml मात्रा का सुबह उठकर खाली पेट शहद के साथ सेवन यदि आप रोजाना करते हैं तो ऐसा करने से लिंग की नसें साफ होती है जिसके कारण लिंग की नसों में आसानी से खून भर जाता है और आपके लिंग को अच्छा तनाव मिलना शुरू हो जाता है| तो यदि आप इरेक्टाइल डिस्फंक्शन की समस्या से परेशान है यह कम उम्र में ही आपका लिंग ढीला ढाला पड़ गया है तो ऐसे में रोजाना आपको प्याज का सेवन करना चाहिए और सुबह उठकर खाली पेट प्याज के रस का शहद मिलाकर सेवन करना चाहिए| यदि आप लगातार ऐसा कुछ दिन करते हैं तो आपको कुछ ही दिनों में अपनी रिटर्न डिसफंक्शन की समस्या से मुक्ति मिल जाएगी| ध्यान रखिए साधारण सा दिखने वाला प्याज भी लिंग की दुर्बलता या शिथिलता को दूर करने का एक बहुत अच्छा आयुर्वेदिक उपचार माना जाता है|

उड़द की दाल से लिंग के ढीलेपन का इलाज

बिना छिलके वाली उड़द की दाल को देसी घी में अच्छी तरह भूनने के बाद आधा लीटर ताजे दूध में अच्छी तरह से पकाले| मीठे के लिए इसमें मिश्री को अच्छी तरह से मिला ले| इस बने हुए मिश्रण को यदि आप रोजाना सुबह उठकर या रात को सोने से पहले जब आपका पेट खाली हो खाने से लिंग की दुर्बलता या कमजोरी दूर हो जाती है और आपका लिंग मजबूत, ताकतवर यानी शक्तिशाली बन जाता है और आपको अपनी इलेक्ट्रिक डिसफंक्शन की समस्या से छुटकारा मिलता है|

किशमिश से लिंग के ढीलेपन और मर्दाना कमजोरी का आयुर्वेदिक इलाज

किशमिश में बलवर्धक शक्तिवर्धक गुण पाए जाते हैं जो किसी भी कारण से आई मर्दाना कमजोरी या सेक्सुअल स्टेमिना की कमी का इलाज करने में सक्षम होते हैं| रोजाना एक मुट्ठी किशमिश को दूध में उबालकर रात को सोने से पहले दूध के साथ खा लें } कुछ दिन रोजाना करने से आपकी मर्दाना कमजोरी की समस्या दूर हो जाएगी और आपको जरूरत से ज्यादा हस्तमैथुन करने के कारण या किसी अन्य कारण से आ रही लिंग में दुर्बलता या शिथिलता की समस्या से भी छुटकारा मिल जाता है|

अश्वगंधा लिंग की कमजोरी का आयुर्वेदिक उपचार

अश्वगंधा में कामोद्दीपक, शक्तिवर्धक, शुक्राणु वर्धक गुण पाए जाते हैं साथ में अश्वगंधा का नियमित सेवन करने से किसी भी कारण से आई शारीरिक और मानसिक कमजोरी की समस्या दूर होती है साथ में मर्दाना कमजोरी या दुर्बलता, शारीरिक ताकत स्टेमिना में कमी की प्रॉब्लम भी दूर हो जाती है| रोजाना अश्वगंधा का आधा-आधा चम्मच सुबह-शाम दूध के साथ सेवन करने से आपकी मर्दाना ताकत और सेक्स स्टैमिना बहता है क्योंकि अश्वगंधा में टेस्टोस्टेरोन हार्मोन को बढ़ाने वाले गुण पाए जाते हैं| आप सभी को पता होगा कि पुरुषों के लिए टेस्टोस्टेरोन हार्मोन बहुत जरूरी होता है खासकर उनके लिए जो कि टेस्टोस्टेरोन हार्मोन की कमी के कारण समय से पहले ही नपुंसकता या नामर्दी का शिकार हो जाते हैं| अश्वगंधा का नियमित सेवन करने से आपको ट्रैक्टर डिस्फंक्शन में फायदा होता है और आपके पेनिस की दुर्बलता या कमजोरी दूर हो जाती है| अश्वगंधा को आप किसी भी अच्छे आयुर्वेदिक स्टोर से खरीद सकते हैं| अश्वगंधा कैप्सूल रूप में भी आसानी से उपलब्ध हो जाती है|

लिंग की दुर्बलता या शिथिलता दूर करने का सबसे अच्छा उपाय है योगा करना

आपके शरीर और शरीर के अंगों को स्वस्थ रखने के लिए रोजाना एक्सरसाइज करने की सलाह दी जाती है इसलिए रोजाना आपको कम से कम आधा घंटा तेज तेज पैदल चलना चाहिए और कुछ देर योगा एक्सरसाइज का अभ्यास करना चाहिए| जैसे-जैसे आपका शरीर एक्सरसाइज के द्वारा स्वस्थ होता जाएगा वैसे वैसे शरीर के कार्यों में भी सुधार होता जाएगा और किसी भी कारण से आई हुई लिंग की दुर्बलता या कमजोरी दूर हो जाएगी| रोजाना एक्सरसाइज करने से आपके शरीर में टेस्टोस्टेरोन हार्मोन का निर्माण तेजी से होने लगता है जिसके फलस्वरूप आपको मर्दाना कमजोरी और इरेक्टाइल डिस्फंक्शन की समस्या से मुक्ति मिलती है|

तो दोस्तों आज आपने जाना की लिंग की कमजोरी को दूर करने के सबसे अच्छे आयुर्वेदिक उपाय क्या होते हैं| और कैसे आयुर्वेद की मदद से आप लिंग की शिथिलता या दुर्बलता को दूर कर सकते हैं यानी लिंग में तनाव की कमी के लिए सबसे अच्छा आयुर्वेदिक इलाज या उपचार क्या है| लेकिन एक बात हम आपको कहना चाहेंगे कि किसी भी आयुर्वेदिक दवा या उपाय का इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर या वैद्य की सलाह जरूर ले ले ताकि आपको किसी भी दवाई से साइड इफ़ेक्ट या नुकसान ना हो|

Health की सही जानकारी के लिए आज ही subscribe करें हमारा चैनल


 

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here